Electric Scooter Vs Petrol Scooter: खरीदने का सोच रहे हैं तो जानें इनके फायदे और नुकसान के बारे में

Electric Scooter Vs Petrol Scooter।इलेक्ट्रिक स्कूटर इन दिनों काफी चर्चा में है क्योंकि पेट्रोल के दामों ने ग्राहकों का ध्यान इलेक्ट्रिक स्कूटर की ओर ले गया है। कई लोग अब भी काफी असमंजस स्थिति में हैं कि वे यदि पेट्रोल की कीमतों में बढ़ोतरी की वजह से इलेक्ट्रिक स्कूटर खरीदते हैं तो उन्हें भविष्य में कोई पछतावा न हो। यह आज के समय चर्चा का विषय है कि इलेक्ट्रिक स्कूटर खरीदना फायदेमंद होगा या पेट्रोल से चलने वाला स्कूटर। आज इसी बारे में जानते हैं कि इलेक्ट्रिक स्कूटर खरीदना ज्यादा फायदेमंद होगा या पेट्रोल स्कूटर- 

Petrol Scooter 

Petrol Scooter का उपयोग लगभग सभी लोग अनुभवी हो जाते हैं जिससे उन्हें इसके फायदे और नुकसान के बारे में पता होता है लेकिन फिर भी यदि इलेक्ट्रिक स्कूटर से तुलना में बात करें तो पेट्रोल स्कूटर में बैटरी और रेंज को लेकर कोई दिक्कत नहीं होती है। वहीं यह अधित समय तक चलाए भी जा सकते हैं। वहीं पेट्रोल स्कूटर के लिए पेट्रोल पंप आसानी से मिल जाते हैं जिससे पेट्रोल आसानी से कहीं भी भरवाया जा सकता है।

वहीं यदि पेट्रोल स्कूटर के नुकसान की बात करें तो इसमें पेट्रोल की महंगी कीमत के साथ ही मेंटेनेंस का खर्चा भी झेलना पड़ता है। सर्विसिंग के खर्चे के साथ ही पेट्रोल के खर्चे को वहन करना आज के समय में काफी मुश्किल होता जा रहा है साथ ही आज के पर्यावरण प्रदूषण की दृष्टि से भी पेट्रोल गाड़ी खरीदना सही नहीं है।

Electric Scooter Vs Petrol Scooter: खरीदने को लेकर सोच रहे हैं तो जानें इनके फायदे और नुकसान के बारे में

Electric Scooter 

Electric Scooter आज के समय में सबसे बेहतर विकल्प माना जा सकता है क्योंकि यह प्रदूषण को कम करने में तो सहायक है ही, पेट्रोल की बढ़ती कीमत का टेशन भी नहीं होगा। बैटरी के खर्चे के अलावा इसमें अन्य कोई खर्चा नहीं होता है। इसमें एक और फायदा है कि इसकी बार-बार की सर्विसिंग के झंझट से मुक्ति मिल जाती है,जिससे इसके मेंटेनेन्स का खर्चा भी कम हो जाता है। यही नहीं पेट्रोल स्कूटर के मुकाबले इलेक्ट्रिक स्कूटर को चलाने का खर्च काफी कम होता है। मौजूदा समय में राज्य सरकारें और केंद्र सरकारें इन पर सब्सिडी जैसी सुविधाएं भी दे रही है जिसका ग्राहक लाभ ले सकते हैं और अपने बजट को नियंत्रित कर सकते हैं।

वहीं Electric Scooter से नुकसान की बात करें तो इसमें रेंज को लेकर समस्या आती है। यह बैटरी पर निर्भर होता है कि वह कितनी चार्ज है और उसे चार्ज करने को लेकर कई बार समस्याएं होती है। चार्जिंग स्टेशन पेट्रोल पंप के मुकाबले उतने नहीं है इसलिए चार्जिंग की समस्या को लेकर तनाव का सामना करना पड़ सकता है।

TATA Tigor EV: बढ़ रहा है टाटा टिगोर ईवी का क्रेज, जानें क्या है खास फीचर्स

2 Trackbacks / Pingbacks

  1. EV Charging Station: चार्जिंग स्टेशन लगाने की फीस कम हुई, ऐसे शुरू कर सकते हैं गाड़ियों को चार्ज करने का बिजनेस
  2. New Ola Electric Scooter: नया ओला स्कूटर 15 अगस्त को होगा लॉन्च, सामने आया नया टीज़र - EVhints

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*